+ (91) 9839951595

+ (91) 9161065717

Follow Us:

Best MLA Award in Karnataka- बीएस येदियुरप्पा 2020-21 के सर्वश्रेष्ठ विधायक पुरस्कार विजेता बने

बीएस येदियुरप्पा 2020-21 के सर्वश्रेष्ठ विधायक पुरस्कार विजेता बने

बीएस येदियुरप्पा 2020-21 के सर्वश्रेष्ठ विधायक पुरस्कार विजेता बने

Best MLA Award in Karnataka: कर्नाटक विधान सभा ने वर्ष 2020-21 का सर्वश्रेष्ठ विधायक पुरस्कार राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा को नामित किया है।  कर्नाटक विधानसभा के अध्यक्ष विश्वेश्वर हेगड़े कागेरी ने 24 सितंबर, 2021 को जानकारी दी कि लोकसभा और राज्यसभा में प्रतिवर्ष दिए जाने वाले सर्वश्रेष्ठ सांसद पुरस्कार के अनुरूप राज्य में इस वर्ष से विधान सभा के सदस्यों के लिए सर्वश्रेष्ठ विधायक पुरस्कार होगा।

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने बीएस येदियुरप्पा को सर्वश्रेष्ठ विधायक पुरस्कार भेंट किया, जिन्होंने 24 सितंबर को कर्नाटक विधानमंडल के दोनों सदनों को संबोधित किया। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी ने ओम बिरला के अभिभाषण का बहिष्कार किया था।

ये भी पढ़े: एल्डर लाइन, पहला भारतीय टोल-फ्री वरिष्ठ नागरिक हेल्पलाइन नंबर – आप सभी को पता होना चाहिए

सर्वश्रेष्ठ विधायक पुरस्कार- कर्नाटक राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा

बीएस येदियुरप्पा ने कर्नाटक में नेतृत्व परिवर्तन को लेकर महीनों से चल रही अटकलों को समाप्त करते हुए 26 जुलाई, 2021 को कर्नाटक के मुख्यमंत्री पद से अपने इस्तीफे की घोषणा की।

राज्य में उनकी सरकार के दो साल पूरे होने पर उनका इस्तीफा आया। येदियुरप्पा दक्षिण भारत में भाजपा के पहले मुख्यमंत्री थे। उन्होंने कर्नाटक के 19वें मुख्यमंत्री के रूप में कार्य किया था।

वह अभी भी शिकारीपुरा निर्वाचन क्षेत्र से कर्नाटक विधान सभा के सदस्य हैं। कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री एसआर बोम्मई के बेटे बसवराज सोमप्पा बोम्मई ने उनका स्थान लिया, जिन्होंने 28 जुलाई, 2021 को कर्नाटक के 23 वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली।

ये भी पढ़े: आयुध निर्माणी बोर्ड (OFB) भंग: आयुध निर्माणी का निगमीकरण, पूरी जानकारी

सर्वश्रेष्ठ विधायक पुरस्कार विजेता बीएस येदियुरप्पा: पृष्ठभूमि

•बीएस येदियुरप्पा कर्नाटक के एकमात्र ऐसे राजनेता हैं जिन्होंने चार बार मुख्यमंत्री और तीन बार कर्नाटक विधानसभा में विपक्ष के नेता के रूप में कार्य किया है।

• वह कर्नाटक में शिमोगा जिले के शिकारीपुरा निर्वाचन क्षेत्र से आठ बार विधायक रहे हैं। वह 2008 में पहली बार कर्नाटक के मुख्यमंत्री बने, जिससे भाजपा को दक्षिण भारतीय राज्य में पहली जीत मिली।

• उन्होंने 2011 में भ्रष्टाचार के एक मामले में इस्तीफा दे दिया और 2016 में बरी हो गए। उन्होंने 2012 में अपनी पार्टी- कर्नाटक जनता पक्ष बनाने के लिए भाजपा छोड़ दी थी, जिसे बाद में 2014 में भाजपा में मिला दिया गया था।

• उन्होंने 17 मई, 2018 को तीसरी बार कर्नाटक के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली, लेकिन विधानसभा में बहुमत का समर्थन हासिल करने में विफल रहने के दो दिन बाद इस्तीफा दे दिया।

• जद (यू) के एचडी कुमारस्वामी ने तब मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी, लेकिन 17 विधायकों के इस्तीफे के बाद जुलाई 2019 में उनकी सरकार ने अपना बहुमत खो दिया।

•येदियुरप्पा ने बहुमत साबित करने के बाद राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में फिर से शपथ ली। उनके नेतृत्व में भाजपा ने उपचुनाव में 15 में से 12 सीटें जीतकर 117 सीटों पर बहुमत हासिल किया। उन्होंने अपने चौथे कार्यकाल की दूसरी वर्षगांठ पर पद से इस्तीफा दे दिया।

Source link

1 Comment

    Leave a Reply

    Your email address will not be published.

    Contact Info

    Support Links

    Single Prost

    Pricing

    Single Project

    Portfolio

    Testimonials

    Information

    Pricing

    Testimonials

    Portfolio

    Single Prost

    Single Project

    Copyright © 2015-2022 All Right SharimPay